You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

भारतीय टीम ने वर्ल्ड स्किलस कज़ान 2019 में जीते 19 पदक

09 Sep 2019

 

भारतीय टीम ने एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक तथा 15 उत्कृष्टता पदक हासिल किए
1) 63 देशों से 1350 से अधिक प्रतिभागियों ने 56 प्रकार केे कौशल में हिस्सा लिया
2) भारत विश्वस्तरीय प्रतियोगिता में 63 देशों में से 13वें स्थान पर रहा

विश्वस्तरीय मंच पर भारत का गौरवान्वित करते हुए भारतीय टीम कज़ान रूस में आयोजित वल्र्डस्किल्स इंटरनेशनल प्रतियोगिता 2019 में अब तक के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ लौटी है। टीम ने 19 पदक और उत्कृष्टता पदक जीते हैं। 48 सदस्यों की भारतीय टीम ने कल कज़ान में शानदार प्रदर्शन करते हुए एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक हासिल किए। इस अवसर पर रूसी संघ के प्रेज़ीडेन्ट व्लादिमिर पुतिन भी मौजूद थे।

ऐतिहासिक जीत हासिल करते हुए भारतीय टीम ने विश्वस्तरीय मंच पर कौशल के नए मानक स्थापित किए, भारत 13 वें स्थान पर रहा। जबकि 2017 में आबु धाबी में भारत 19 वें स्थान पर रहा था और 11 पदक जीत कर लाया था।

11 देशों के साथ प्रतिस्पर्धा करते हुए एस अस्वथा नारायण ने वाॅटर टेक्नोलाॅजी में स्वर्ण पदक जीता, उन्हें भारतीय प्रतियोगियों में ‘बेस्ट आॅफ नेशन’ के खिताब से भी सम्मानित किया गया।

प्रणव नुतलापति ने 33 देशों से मुकाबला करते हुए वेब टेक्नोलाॅजीज़ में रजत पदक जीता।

संजय प्रमाणिक ने 16 देशों से मुकाबला करते हुए ज्वैलरी में कांस्य पदक जीता।

इसी तरह ग्राफिक डिज़ाइनिंग की बात करें तो श्वेता रतनपुरा ने 35 देशों के साथ मुकाबला करते हुए कांस्य पदक जीता। श्वेता वल्र्डस्किल्स कज़ान 2019 में भारत के लिए पदक जीतने वाली एकमात्र महिला उम्मीदवार भी हैं।

प्रतियोगिता व्यवसायिक कोशल के क्षेत्र में विश्वस्तरीय विशाल आयोजन बन चुकी है। इस साल प्रतियोगिता में 63 देशों से 1350 प्रतियोगियों ने हिस्सा लिया, जिन्हों 56 प्रकार के कौशल में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। भारतीय टीम ने 19 पदक जीत कर व्यवसायिक कौशल केे अध्याय में एक नया इतिहास रचा है। इससे न केवल टीम की प्रतिभा साबित होती है, बल्कि उनके समर्पण और प्रतिबद्धता का भी प्रमाण मिलता है।

S.no Candidate State Represented Medal Skill
1 Aswatha Narayana Sanagavarapu Odisha Gold Water Technology
2 Pranav UdayarkNutalapati Karnataka Silver Web Technologies
3 Shweta Ratanpura Maharashtra Bronze Graphic Design Technology
4 Sanjoy Pramanik West Bengal Bronze Jewellery
5 SumanthSantemavathuruChikkabettiah Karnataka

 

Medallion of Excellence

 

Mechatronics

 

6 ManjunathaDesurakara
7 Mohammed RabithKunnampalli Kerala Medallion ofExcellence Wall and floor tiling
8 Govind Kumar Sonkar Uttar Pradesh Medallion ofExcellence Car Painting
9 Faruk Ahmed Tripura Medallion of Excellence Bakery
10 TusharTukaramPhadatare Maharashtra Medallion ofExcellence Automobile Technology
11 Shubham Singh Punjab Medallion ofExcellence

 

Cyber Security

 

12 Swapnil Delhi
13 NidhinPrem Kerala Medallion ofExcellence 3D Digital Art Game
14 ThasleemMohideen Tamil Nadu Medallion ofExcellence Health and Social Care
15 Suraj Uttarakhand Medallion of Excellence Autobody Repair
16 OmkarShivalingGurav Maharashtra

 

Medallion of Excellence

 

Mobile Robotics

 

17 Rohan RavindraHanagi
18 Koteshwar Reddy Golipally Telangana Medallion of Excellence Welding
19 MdRamjanMomin West Bengal Medallion of Excellence Bricklaying
20 Saurabh Baghel Uttar Pradesh Medallion of Excellence Patisserie and Confectionary
21 Ankit Anand Bihar Medallion of Excellence Visual Merchandising
22 Gursheesh Singh Chawla Chandigarh Medallion of Excellence IT Software Solutions for Business

 

माननीय कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री डाॅ महेन्द्र नाथ पाण्डेय पिछले सप्ताह टीम का उत्साहवर्धन करने के लिए कज़ान में मौजूद थे, उन्होंने अन्य देशों से आए प्रतिनिधियों के लिए भारतीय मंडप का उद्घाटन किया, इस दौरान इन प्रतिनिधियों को भारतीय प्रतियोगियों के साथ बातचीत करने और भारत के बारे में जानकारी पाने का अवसर मिला। वास्तव में 40 देशों के सरकारी प्रतिनिधियों के सम्मेलन में मंत्री जी के संबोधन ने देश को विभिन्न उद्योगों में कुशल एवं प्रतिभाशाली कार्यबल के मजबूत स्तंभ के रूप में प्रस्तुत किया। काम के दौरान लर्निंग, कौशल भारत मिशन का महत्वपूर्ण स्तंभ है, जो तकनीक से लैस कार्यबल के निर्माण में मुख्य भूमिका निभाता है, जो इंडस्ट्री 4.0 के निर्माण में योगदान दे सकें। डाॅ पाण्डेय ने अपने भाषण के दौरान भारतीय युवाओं की क्षमता पर रोशनी डाली। अन्य देशों के प्रतिनिधियों ने स्टैण्डिंग ओवेशन केे साथ उनकी इस अपील का स्वागत किया।

विजेताओं के विशेषज्ञों और प्रतिभागियों की भूमिका प्रतियोगिता में बेहद महत्वपूर्ण थी। उन्होंने भारतीय टीम की जीत में मुख्य भूमिका निभाई है। एस असवथा नारायण जिन्होंने वाॅटर टेक्नोलाॅजी में स्पर्ण पदक जीता है, उन्हें रजत कुमार संमतारे, प्रोफेसर, सीवी रमन इंसटीट्यूट, भुवनेश्वर द्वारा प्रशिक्षित किया गया था। इसी तरह वेब टेक्नोलाॅजी में रजत पदक जीतने वाले प्रणव नुटालापाती को स्माल्ट एण्ड बेरिल के टेकनिकल डायरेक्टर रूचि पारीक द्वारा प्रशिक्षित किया गया था। ज्वैलरी में कांस्य पदक जीतने वाले संजय प्रमाणिक को वुम्मीदी बैंगारू ज्वैलर्स के क्रिएटिव हैड अनुपम करमाकर द्वारा प्रशिक्षित किया गया था। ग्राफिक डिज़ाइनिंग में कांस्य पदक जीतने वाली श्वेता रतनपुरा को डिज़ाइन मीडिया, पुणे के संस्थापक नारायणन सथीश द्वारा प्रशिक्षित किया गया था।

वल्र्डस्किल्स इण्डिया के बारे में

वल्र्डस्किल्स इण्डिया कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के तत्वावधान में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम की एक पहल है, जो 2011 के बाद से वल्र्डस्किल्स अन्तर्राष्ट्रीय प्राितयोगिताओं में भारत की भागीदारी का प्रतिनिधित्व कर रही है। इसने देश के युवाओं को कौशल प्रदान कर कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में नए मानक स्थापित किए हैं और भारतीय युवाओं के कौशल को उनके विश्वस्तरीय समकक्षों के समकक्ष बनाया है।

अधिक जानकारी के लिए विज़िट करें  https://www.worldskillsindia.co.in/

वल्र्डस्किल्स प्रतियोगिता के बारे में

वल्र्डस्किल्स प्रतियागिता का आयोजन हर दो साल में एक बार किया जाता है जिसमें 60 से अधिक देशों से 1300 से अधिक प्रतियोगी हिस्सा ले रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान दुनिया के सभी हिस्सों से युवाओं को अपनी पसंद के कौशल में अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का मौका मिलता है। इसके तहत 56 प्रकार के कौशल में जाॅइनरी से लेकर फ्लोरिस्ट्री, हेयरडैªसिंग से लेकर इलेक्ट्राॅनिक्स, आॅटोबाॅडी रिपेयर से लेकर बेकरी तक शामिल हैं। वल्र्डस्किल्स के सदस्य देशोें और क्षेत्रों में सख्त कौशल प्रतियोगिताओं के माध्यम से इन प्रतियोगियों का चयन किया जाता है। यह प्रतियोगिता उद्योग, सरकार एवं शिक्षा जगत के दिग्गजों को भी उद्योग एवं पेशेवर शिक्षा के बारे में सर्वश्रेष्ठ प्रथाओं और जानकारियों को साझा करने का अवसर देती है। नए विचार और प्रक्रियाएं स्कूली छात्रों को तकनीकी क्षेत्र में करियर बनाने और अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए प्रेरित करते हैं।

अधिक जानकारी के लिए विज़िट करें :  https://worldskills2019.com/en/event/competition/

Total Comments - 0

Leave a Reply