You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

मेरी सरकार के माध्यम से प्राप्त नागरिकों के सुझावों पर रेल मंत्रालय ने कार्य आरम्भ किया

24 Nov 2015

ministry-of-railways-translates-citizens-inner-10022015-h

मेरी सरकार के सदस्यों ने “भारतीय रेल” समूह जिसे पहले “डिजिटल रेल” समूह के नाम से भी जाना जाता था, पर अपने विचार साझा किए थे। इस समूह में दो विषयों “रेल पूछताछ प्रणाली” और “टिकटिंग सिस्टम” पर चर्चा हुई थी। हमें यह सूचित करते हुए अत्यंत खुशी हो रही है, की मेरी सरकार पर साझा किए गये उल्लेखनीय सुझावों को रेल मंत्रालय द्वारा ध्यान में रखा गया है। इन सुझावों ने भारतीय रेल द्वारा बेहतर सेवाएं प्रदान करने की दिशा में एक सकारात्मक बदलाव के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

मेरी सरकार पर प्राप्त विचारों और सुझावों के अनुसरण के संबंध में रेल मंत्रालय द्वारा उठाए गए कार्यों और निर्णयों का विवरण नीचे दिया जा रहा हैः-

क्रम.संख्या विचार एंव सुझाव निर्णय या कार्यवाही
1. ट्रेन आगमन से पहले ट्रेन यात्रियों को अपेक्षित समय और यात्रा विवरण का “एसएमएसअलर्ट”। ट्रेन के आगमन/प्रस्थान की स्थिति एसएमएस के माध्यम से उपलब्ध है। यात्री ट्रेन की वर्तमान स्थिति प्राप्त करने के लिए वाक्य रचना SPOT<गाड़ी सं> के साथ 139 पर एसएमएस भेज सकते हैं।
2. रात्रि के समय ट्रेन के गंतव्य स्टेशन पर आगमन पर यात्रियों के लिए ध्वनि अलर्ट। गंतव्य आगमन अलर्ट 139 रेलवे पूछताछ सेवा के माध्यम से 20-10-2014 से उपलब्ध है। गन्तवय अलर्ट 139 पर फोन या ALERT <पीएनआर नं.> को 139 पर एसएमएस करके प्राप्त की जा सकती है।
3. क्षेत्रीय भाषा में सहायता के लिए अतिरिक्त पूछताछ नंबर। हिन्दी और अंग्रेजी के अलावा, रेलवे पूछताछ 139 असमिया, बंगाली, उड़िया, कन्नड़, मलयालम, तमिल, तेलुगू, पंजाबी, मराठी और गुजराती की तरह कई अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में भी जानकारी प्रदान करता है।
4. आईआरसीटीसी का पेमेंट गेटवेइंटर नेशनल डेबिट/ क्रेडिट कार्ड दोनों का समर्थन करना चाहिए। आईआरसीटीसी ने वेब सेवाओं के माध्यम सेक्लियर ट्रिप,मेक माँय ट्रिप और यात्रा जैसे पोर्टल्स के साथ करार किया है। आईआरसीटीसी की इन सहयोगी वेबसाइटों के द्वारा भी इंटरनेशनल डेबिट/क्रेडिट कार्ड दोनों स्वीकार किया जाता हैं।
5. टोल फ्री नंबर (139)मुक्त किया जाना चाहिए। रेलवे पूछताछ नंबर पीपीपी मॉडल (139) पर आधारित है और चार्जेबल है। इसलिए इसे टोल फ्री बनाना संभव नहीं है।
6. मोबाइल बैलेंस का उपयोग कर टिकट बुकिंग की अनुमति। टिकट बुकिंग के लिए मोबाइल बैलेंस का उपयोग प्रचलित नियामक प्रावधानों के प्रति संभव नहीं है।
7. टिकट परीक्षक को कलम और कागजका उपयोग करने के बजाय एक नोटबुक का उपयोग करना चाहिए। यात्री स्टेटस को अपडेट करने के लिए प्रायोगिक स्तर पर कुछ ट्रेनों में हैण्ड हेल्ड टर्मिनल का उपयोग किया जा रहा है। कुछ और ट्रेनों में इसके विस्तार का कार्य प्रगति पर है।
8. आईआरसीटीसी की टिकट बुकिंग प्रणाली को क्रैश से बचने के लिए वेबसाइट को अधिक बैंडविड्थ बनाया जाना चाहिए। आईआरसीटीसी वेबसाइट में उच्च बैंडविड्थ, नए सॉफ्टवेयर और एक नए सर्वरका इस्तेमाल किया गया है। जिससे सिस्टम अब 1.2 लाख समवर्ती कनेक्शन का सफल संचालन करने में सक्षम है।
9. सामान्य सेवा केन्द्र से रेलवे टिकट का आरक्षण। आईआरसीटीसी ने सामान्य सेवा केंद्र से रेलवे टिकट आरक्षण को सक्षम करने के लिए “सीएससी ई-गवर्नेन्स सर्विसेजइंडिया लिमिटेड” के साथ एक समझौता किया है। सीएससी को एक बड़ी संख्या में रेल आरक्षण टिकटिंग के लिए सक्रिय किया जा रहा हैं।

 

हम सभी नागरिकों से उनके व्यावहारिक विचारों को आगे भी साझा करने की अपेक्षा करते है और मेरी सरकार के माध्यम से उनके विचारों को कार्यवाही में बदलने के लिए प्रतिबद्ध है!

अपनी टिप्पणियां दें

कुल टिप्पणियां - 652

Leave a Reply

  • murali_9 - 6 years ago

    Railways should take care of availability of water and clean toilets during long distance trains

    • brijesh rajdev yadav - 5 years ago

      Sir m Brijesh yadav from mahatshtra.I go to book a reservation ticket counter for booking.because of the scarcity of availability of ticket to up…..various Dalals are active and with the support of RPF police officials including main officers.sir shri suresh prabhuji….I stand 3 nights regular to book single tickets and afraid to go to file complaint on Dalals as they are powerful and full support with RPF.ambernath…dist thane….mahatashtra

  • Arjun Kant Jha - 6 years ago

    Sir, I belong to Bihar and frequently travel to in between Patna, Muzaffarpur, Jaipur and Delhi. The most common thing noted that attitude of railway official specially in train moving towards Bihar are very abusive. Is any helpline exist to deal with railway police and tt, if yes please provide and if no can it be created.

    I have experienced that on website seat availability show as WL but boarding on train, passengers are not available. Is it a technical snag or intensely been done to earn.

    • SUNIL KUMAR - 6 years ago

      Normally hot water for Tea/Coffee is served in a Thermo Flask. But to my surprise, the hot water is distributed to the passengers in open paper cups ! (Both Amritsar Satabi & Bhopal shatabdi) In a train like shatabdi which travels at high speed, the chances of jerking is common, moreover if accidently these hot water tray when serving falls down on passengers surely there will be an accident. I enquired about this to the waiter and his reply was “the hot water making system is not functioning

  • vikash sharma - 6 years ago

    no water in toilet resultant in 4 continous chain pooling and hot talks with railway officers at kanpur station. station master comes with a remark that most of the passengers are marwari and rajasthani is always BADMAS(no facility and misbehavior) .rain water comes from the roof of train ..damage the luggage of passengers (old infrastructure)

  • vikash sharma - 6 years ago

    no one there for cleanliness in entire journey. beggar, hinjras, and people without ticket and unreserved ticket in entire train.( unpleasant atmosphere)

  • vikash sharma - 6 years ago

    back to jaipur with unpleasure experience of Indian Railway
    horse trading of reservation seat by TTE in NGP (corruption)
    3 theft in my train in a single night near by patna. (No security at all)
    arrange media at Allahabad Station but Railway officers manage to cut stoppage time to reduce the media intervention.(undemocratic)
    no water in toilet resultant in 4 continous chain pooling and hot talks with railway officers at kanpur station. station master comes with a remark that most of the passeng

    • vikash sharma - 6 years ago

      I registered all this complaint in my complaint book in page no 6 to 9 in coach no 76204 dated 14/03/2015
      Hon’ble Railway Minister Suresh Prabhuji you have to work hard ..your real agni pariksha == donot give us new train but reduce this problems

    • vikash sharma - 6 years ago

      pantry men are selling tea of Rs 10 instead of prescribed Rs 7 for Tea by railway and selling MUST brand mineral water instead of Rail Neer.

  • dharmveer singh yadav - 6 years ago

    IRCTC started to book online handicapped concession tickets through IRCTC website and says that keep "handicapped photo id" issued by railways with you. But till date no any Railway Zone has stared to issue such type of "handicapped photo id". This is my request to Railway Department that kindly start the process to issue such type of "handicapped photo id" as soon as possible in all Railway Zones.

  • Murlidhar shrivastava - 6 years ago

    crimes and thefts in the reserved compartments have become most common these days,damaging the prestige of Indian Railways among Passengers and in the world too.Concerned Authorities require serious efforts to strengthen security measures such that especially women passengers could feel sense of protection while travelling through Indian Railways.

  • Burzes Batliwalla - 6 years ago

    To make the railways more effective let us use SAP systems to streamline our processes.

  • Rangacharyulu MV - 6 years ago

    Bed Rolls should be made available to sleeper class also.

  • ASIT KUMAR NAG - 6 years ago

    Railway Catering – At present most of the food is too spicy wiith lots of oil and chilly. For senior citizens, Idli, sandwitch both vegitarian and non vegitarian ,continental vegitarian and non vegitarin food be made available on prior request, which can be done while purchasing ticket through the Internet.The present manu may continue for the normal passangers.