You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

हिमाचल में ग्रामीण क्षेत्रों के वरिष्ठ नागरिकों के लिए पंचवटी योजना शुरू

09 Jun 2020

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के वरिष्ठ नागरिकों के लिए ‘‘पंचवटी योजना’’ का शुभारंभ किया। इस योजना में ग्रामीण विकास विभाग केे माध्यम से मनरेगा योजना के अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं से युक्त सभी विकास खंडों में पार्क और बागीचे विकसित किए जाएंगे। योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों को मनोरंजन के साथ पार्क और बागीचों की सुविधा उपलब्ध करवाना है।

पार्कों पर उपलब्ध रहेंगी विभिन्न सुविधाएं

हिमाचल सरकार ने वरिष्ठ नागरिकों की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मनरेगा, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) और 14वें वित्त आयोग अभिसरण में न्यूनतम एक बीघा की समतल भूमि पर इन पार्कों और बागीचों को विकसित किया जाएगा। इन पार्कों में आयुर्वेदिक और औषधीय पौधे लगाने के अलावा बुजुर्गों के लिए मनोरजंन के लिए मनोरंजक उपकरण, पैदल पथ और अन्य बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी।

इस वर्ष राज्य में होगा 100 पार्कों का निर्माण

चालू वित्त वर्ष में राज्य के विभिन्न स्थानों पर लगभग 100 पार्क विकसित किए जाएंगे। इन पार्कों के पहले चरण का शुभांरभ आज मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने वीडियो काॅन्फ्रंेसिंग के माध्यम से जिला मंडी के गोहर विकास खंड, जिला ऊना के बंगाणा विकास खंड, जिला कुल्लू के बंजार और नग्गर विकास खंड, जिला लाहौल-स्पीति के काजा विकास खंड, जिला कांगड़ा के सुलह और नगरोटा बगवां विकास खंड, जिला सिरमौर के पांवटा साहिब और पच्छाद विकास खंड, जिला चम्बा के भटियात और तीसा विकास खंड, जिला किन्नौर के कल्पा विकास खंड, जिला सोलन के कंडाघाट विकास खंड, जिला शिमला के रोहड़ू विकास खंड और जिला हमीरपुर के नादौन विकास खंड में किया गया। उक्त पार्क वरिष्ठ नागरिकों को स्वस्थ और प्रसन्नतापूर्ण जीवन व्यतीत करने में वरदान साबित होंगे। राज्य की 90 प्रतिशत जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है, ऐसे में लाजमी है कि इस योजना के सार्थक परिणाम होंगे।

Total Comments - 0

Leave a Reply