You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

‘विदेश मंत्रालय के नए आउटरीच कार्यक्रम के शीर्षक सुझाए जाने’ प्रतियोगिता के विजेताओं की घोषणा

18 Dec 2017

विदेश मंत्रालय के विदेश प्रचार और सार्वजनिक कूटनीति (एक्सपीडी) डिविजन ने छात्रों के साथ जुड़ने के लिए अपनी नई सार्वजनिक पहल का नाम देने के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की थी…युवा छात्रों से जुड़ने का कार्यक्रम- भारत का भविष्य.. चूंकि विदेशी नीतिगत मुद्दों की बारीकियों का अक्सर बड़े शहरों में दर्शक जानते हैं लेकिन उसके उलट  तौर पर विशेष रूप से भारत के छोटे शहरों और गांवों के छात्रों को विदेश मंत्रालय और भारतीय विदेश नीति के कामों की पूरी समझ नहीं  होती है। इस कार्यक्रम में विदेश मंत्रालय की भूमिका और कार्यों के बारे में स्कूल और कॉलेज के छात्रों को परिचित करने का प्रस्ताव है| इन छात्रों को  भारत की विदेश नीति के प्रमुख तत्वों और एक सरल तरीके से मंत्रालय की  उपलब्धियों के बारे में परिचय देना अहम मकसद है।

इस कार्यक्रम के तहत  छुट्टी के दौरान  मंत्रालय में काम करने वाले अधिकारी अपने गृहनगर / राज्यों के  स्कूलों और कॉलेजों का भ्रमण करेंगे। हालांकि ये विशुद्ध रूप से स्वैच्छिक आधार पर होगा। इस दौरान वे छात्रों के साथ बातचीत और विदेश मंत्रालय में काम करने के उके अनुभव को साझा करना प्रमुख होगा।

युवा दर्शकों के बीच व्यापक तौर पर मंत्रालय की पहुंच फैलाना है| साथ ही ये प्रयास  है कि युवाओं के बीच विदेश मंत्रालय के बारे में रूचि और जागरूकता बढ़ाया जाए… विदेश नीति  के मोर्चे पर हमारी हाल की सफलता की कहानियों को लक्षित करना है या कहें उनसे  इन युवाओं को अवगत कराना है।

इस नई सार्वजनिक आउटरीच पहल के लिए एक शीर्षक का सुझाव देने के लिए mygov.in पोर्टल ने 22 नवंबर से लेकर 10 दिसंबर 2017 तक ओपन प्रतियोगिता के माध्यम से  प्रविष्टियां आमंत्रित की…इन प्रविष्टियों के लिए हमें भारी रिस्पांस मिला । हमारे चयन समिति के मूल्यांकन के बाद, सबसे बेहतरीन के रूप में घोषित प्रविष्टि- ‘एसएएमआईपी( SAMIP – Students & Ministry Interactive Programme’ )  को चुना गया ।  ये नाम श्रीमती मर्लिन थॉमस  ने दिया है।

अपनी टिप्पणियां दें

कुल टिप्पणियां - 0

Leave a Reply