You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

आईआईसीडीसी 2017 क्वालिफाईंग राउंड-फेज 2 के परिणामों की घोषणा

07 Dec 2017

आईआईसीडीसी 2017 में इंजीनियरिंग कॉलेजों की नवाचार और भागीदारी के संबंध में शानदार परिणाम सामने आए हैं। अभी तक के सबसे बड़े संस्करण होने के अलावा, इस साल की प्रतियोगिता में औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) द्वारा विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारतीय प्रबंधन संस्थान- बैंगलोर और मायगो पोर्टल के साथ समर्थन किया गया है।

फेज 2- डीएसटी-टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स इंडिया इनोवेशन चैलेंज 2017 (आईआईसीडीसी 2017) में 965 इंडियन इंजीनियरिंग कॉलेजों के 5049 विचार प्राप्त हुए।  क्वालिफ़ायर के दूसरे राउंड में आगे बढ़ने वाली यह सबसे बढ़िया युवा प्रतिभाशाली टीमों में से एक है

प्रतियोगिता के क्वालीफाइंग दौर- चरण II के परिणाम देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

मूल्यांकनकर्ताओं और मूल्यांकन प्रक्रिया

इन विचारों को उनके उत्पाद या सेवा पर न्याय किया गया.. सामाजिक-आर्थिक मोर्चे के साथ साथ, बाजार की संभावना, नवीनता और व्यवहार्यता की स्पष्टता पर प्रभाव डाला गया| वित्तीय अनुमानों और लागतों पर उपभोक्ता जरूरतों के विचार की समझ को भी सटीकता के संग प्राथमिकता दी गई थी।

टीआई और आईआईएमबी द्वारा तैयार किए गए एक फ्रेमवर्क को माइगॉव पोर्टल पर  ऑनलाइन मूल्यांकन किया गया था। प्रत्येक प्रस्ताव का मूल्यांकन दो मूल्यांकनकर्ताओं द्वारा किया गया| आईआईएमबी, एनएसआरसीईएल के सदस्यों और स्टार्ट-अप डोमेन के नेताओं के शामिल मूल्यांकनकर्ताओं की सूची, जिन्होंने भारतीय उद्योग में महत्वपूर्ण योगदान दिया है|

आने वाले महीनों में 510 शॉर्टलिस्ट वाली टीमों के लिए क्या संग्रह है?

 

  • आने वाले महीनों में टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स, आईआईएम-बी, डीएसटी और प्रख्यात मूल्यांकनकर्ताओं और आकाओं के एक पैनल द्वारा इन प्रतिभागियों का मूल्यांकन, मार्गदर्शन और अनुदान दिया जाएगा।
  • व्यापारिक दक्षता में सुधार और एक उल्लेखनीय व्यवसाय प्रस्ताव बनाने की बारीकियों पर समझने के लिए कार्यशालाओं में आईआईएम-बी से एमओओसी (विशाल ओपन ऑनलाइन पाठ्यक्रम) पर एक विस्तृत सत्र शामिल है।
  • कार्यशालाएं शुरू करने व स्टार्ट अप के लिए महत्वपूर्ण व  समस्त पिच को खंगालने के लिए संचार प्रशिक्षण भी प्रदान करेगी
  • टीआई से टेक मार्टिंग (संजय श्रीवास्तव, टीआई इंडिया यूनिवर्सिटी के निदेशक, और उनकी टीम) द्वारा प्रभावी कामकाज के लिए अपने प्रोटोटाइप को बढ़ाने की कोशिश की जाएगी
  • प्रत्येक टीम को अपने प्रोटोटाइप को और विकसित करने के लिए टीआई से औजारों का मुफ्त शिपमेंट (लगभग $ 200) मिलेगा।

यहां कुछ मूल्यांकनकर्ताओं के विचार हैं उनका प्रतियोगियों व प्रतियोगिता को लेकर  क्या कहते है:

“मैंने देखा आवेदनों का सेट काफी दिलचस्प और अभिनव  सा है।  जो आवेदन  छात्र समुदाय से आए हैं वे इकोसिस्टम  के लिए बहुत अधिक मूल्यवान बनाता है। इस तरह की घटनाएं छात्रों को नवाचारी अन्वेषण करने और उद्यमियों का एक पूल बनाने का एकमात्र तरीका है। आयोजन टीम को बहुत बहुत बधाई। ”

-मोहन सुंदरम, मेंटर , एनएसआरसीईएल / आईआईएमबी के दिग्गज

 

युवा पीढ़ी से आने वाले विचारों की इन श्रेणी को देखना और उनको  प्रोत्साहित करना है। ये भारत में नवाचार के भविष्य की आशा है। इस मंच को बधाई…क्योंकि ये मंच भारत के छात्रों को अपने विचारों का प्रदर्शन करने का अवसर दे रहा हैं। “- नयमेश दवे, एक स्टार्ट-अप के कार्यकारी निदेशक

ये छात्रों के काम का सबसे बड़े प्रदर्शनों में से एक है, आईआईसीडीसी 2017 शीर्ष चयनित परियोजनाओं को प्रदर्शित करेगा, साथ ही चयनित प्रोजेक्ट शुरुआती  फंड द्वारा समर्थित होंगे जो आईआईएम-बी के ऊष्मायन सेल में सफल टेक स्टार्ट-अप बनाने के लिए तैयार होंगे।

आईआईसीडीसी 2017 का विषय ही नवाचार, उद्यमशीलता और राष्ट्र भवन है।

IICDC 2017 ने अब तक के प्रभाव के बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें

अपनी टिप्पणियां दें

कुल टिप्पणियां - 0

Leave a Reply