You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

इटानगर को एक स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में कार्य करना

18 Jul 2017

अरुणाचल प्रदेश की राजधानी इटानगर , उन 11 शहरों की सूची में है जिसे भारत सरकार के स्मार्ट सिटी मिशन को वाइल्डकार्ड प्रविष्टियां दी गई हैं । इस सूची में  शिमला, जम्मू, बेंगलूर, पटना, अमरावती और श्रीनगर जैसे शहर  शामिल हैं । हालांकि, सरकार की वेबसाइट (www.mygov.in)  पर स्मार्ट सिटी इटानगर की पहल के लिए कई चर्चाओं, प्रतियोगिताओं, चुनावों की घोषणा की गई है।  लेकिन आने वाले दिनों में  प्रस्तावित परियोजनाओं के लिए सार्वजनिक प्रस्ताव भी  आमंत्रित  किए जाएंगे । इसकी अतिरिक्त जानकारी भी वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी।

इटानगर नगर परिषद ने  स्थानीय प्रशासन के साथ, इटानगर स्मार्ट सिटी चुनौती में नागरिकों की सहभागिता  को प्रेरित करने के लिए  कई प्रयासों का विस्तार किया है,।  इन प्रयासों के जरिए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के एक संपूर्ण प्रस्ताव हर तबके को जोड़ने का प्रयास हो रहा है। । प्रस्ताव के विकास में समाज के सभी वर्गों को शामिल करने के लिए झोपड़ी( स्लम) से लेकर मध्यम वर्ग, उच्च वर्ग, से सड़क विक्रेता, धार्मिक नेताओं,  शिक्षाविदों को शामिल किए जा रहे हैं । इन सबके अलावा जमीनी स्तर से शुरू होने वाले नागरिकों की परामर्श कार्यशालाएं शुरू की जा रही हैं।

स्मार्ट सिटी जैसे अहम लक्ष्य को पूरा करने के लिए  नागरिकों को एक साथ लेकर और सुधार के लिए  राय और विचार साझा करने के लिए बहु-मोडल या कहें अनेकों प्रकार के  प्लेटफार्म विकसित किए गए हैं। इस मौके पर इटानगर नगर निगम द्वारा प्रमुख क्षेत्रीय गतिविधियों को चार मोड में विभाजित किया जा सकता है, जो  इस प्रकार हैं: –

नागरिक कार्यशालाएं:

इटानगर स्मार्ट सिटी जागरूकता पहल की शुरुआत करते हुए, इटानगर नागरिक समूहों द्वारा स्मार्ट सिटीज चैलेंज पर संबोधित किया गया और नागरिकों की परामर्श कार्यशालाओं में भागीदारी के तरीके जो अपनाए गए

  • स्मार्ट सिटी चैलेंज के तहत इटानगर नगर निगम के नगर पार्षदों को अपने शहर और अपने जोन के नागरिकों को  जागरूक करने के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित किया गया।
  • इस मिशन के तहत लिए झुग्गी निवासियों से  भी संपर्क किया गया और उनके विचार जाने गए। इसके तहत  विशेष रूप से अनिया गांव(Aniya Village), निकुम नी कॉलनी(Nikum Nyi Colony) और डिक्रोंग कॉलोनी (Dikrong Colony) के लोगोम की राय  ली गई।
  • टूर ऑपरेटरों, सड़क विक्रेताओं, होटल मालिकों ने भी  अपनी राय और उद्योग से जुड़े  मुद्दों की आवाज उठाई
  • जिला आयुक्त, सरकारी अधिकारियों, डॉक्टरों, प्रोफेसरों और शिक्षकों को नगर पालिका अधिकारियों ने संबोधित किया था
  • इस अभियान के तहत इंटरैक्टिव सत्र के साथ साथ शहर के भीतर भीतर युवा समूहों, धार्मिक समूहों और गैर-सरकारी संगठनों के साथ  भी लगातार संवाद किए जा रहे हैं।

स्मार्ट सिटी वाहन:

अधिकतम नागरिक साझेदारी मकसद से ही  गंगा मार्केट  में स्मार्ट सिटी वाहन मोबाइल  को  रवाना  किया गया । वाहन मोबाइल अभियान का ही एक हिस्सा है जिसका उद्देश्य लोगों को इस परियोजना के बारे में शिक्षित करना होता है । ताकि शहर में एक बेहतर  परिवर्तन लाया जा सके। हाल में  नागरिक भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए एक आकर्षक गीत के साथ पोस्टर और बैनर प्रदर्शन भी  किया गया। इसके बाद कॉलेजों, चर्चों और बाजार क्षेत्रों जैसे शहर के सबसे महत्वपूर्ण और अहम स्थानों पर लोगों को आकर्षित करने के लिए फोक डांस, और  प्रेरक नृत्य कार्यक्रम भी किए गए। स्मार्ट सिटी अभियान में क्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन कियागया  और स्मार्ट सिटी इटानगर ब्रांडेड टोपियां और टी-शर्ट  भी  लोगों  को दिए गए ताकि  लोग जागरूकता हो सके।

प्रश्नावली भरना:

निवासियों द्वारा  दिए  गए विचार  काफी बेहद फायदेमंद होगी, क्योंकि इससे विकास के प्रयासों को आकार देने और निर्देश   दोनों में मदद मिला करती है ।  इसी मकसद से अब तक तकरीबन एक लाख नागरिकों से भी अधिक फीडबैक प्रश्नावली फॉर्म  वितरित किये जा चुके हैं ।

इस तरह के अभियान  निकट भविष्य में भी आयोजित किए जाएंगे ताकि विकास प्रक्रिया के प्रस्ताव को लगातार जारी रखा  जा सके .. नागरिकों को उन परियोजनाओं को चुनने में और भाग लेने की आवश्यकता होगी जो इटानगर को एक स्मार्ट शहर के रूप में जगह पाने की दिशा में  सही कदम होगा।

स्ट्रैटजिक रिव्यू मीटिंग

सभी जिला प्रमुखों, नगर पालिका अधिकारी और परामर्श दल सहित व्यवस्थित बैठकों की प्रगति की जानकारी के साथ इस अभियान के मूल्यांकन और समीक्षा के लिए  भी  समय समय पर बैठकें आयोजित किए  जाते रहे है। इन  बैठकों का उद्देश्य नागरिक प्रतिक्रियाओं का आकलन करना, सिस्टम के कामकाज का मूल्यांकन करना और निर्धारित लक्ष्यों और कार्य के नियोजित प्रवाह के अनुसार उत्पादित परिणामों को संशोधित करना। इन  सबके अलावा, अरुणाचल चैंबर ऑफ कॉमर्स के लिए एक स्मार्ट सिटी सेंसिटाइजेशन हाल ही में आयोजित किया गया था । इस कार्यक्रम में  इन सदस्यों के अलावा मीडिया ने भी भाग लिया था और मीडिया ने  इसे  एक व्यापक कवरेज  भी दिया।

बेहतर पहुंच के लिए डिजिटल उपस्थिति जरूरी

अधिक संख्या में निवासियों तक पहुंचने के लिए, स्मार्ट सिटी इटानगर का फेसबुक पर अपना पेज और साथ ही ट्विटर हैंडल भी है। यदि कोई निवासी किसी वजह से ऑन-ग्राउंड गतिविधियों में भाग नहीं ले सकता है, तो आप सामाजिक मंच पर आकर अपनी राय और इनपुट साझा करके  महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

  • आप एबीडी जोन चयन सर्वेक्षण में भाग लें सकते हैं – http://bit.ly/2ktsEIY
  • इसके अलावा, स्मार्ट सिटी इटानगर को लेकर चलाए जा रहे अभियान को पूरा करने के लिए नियमित रूप से आयोजित की जाने वाली गतिविधियों के बारे में अपना अनुभव , अनुसरण साझा करें।
  • फेसबुक :https://www.facebook.com/SmartItanagar
  • ट्विटर हैंडल-Twitter Handle: @smartitanagar

स्मार्ट सिटी को लेकर चल रही गतिविधियां अगर कार्यान्वित  होती है, तो इटानगर का चेहरा बदल जाएगा। लेकिन ये जानना जरूरी है ति ये संभव तभी होगा जब , इटानगर के निवासियों के उत्साहपूर्ण भागीदारी  होगी

अब तक के रिस्पॉन्स से  मसलन  रोड शो, नागरिक कार्यशालाओं और प्रश्नावली भरने के सत्रों के जरिए एक जबरदस्त प्रतिक्रिया और उत्साह देखने को मिली है । इटानगर नगर निगम को उम्मीद है कि भविष्य की हर कार्यशालाओं, नागरिक संवाद सत्र और क्षेत्रीय गतिविधियों के साथ  ही स्मार्ट शहर की राह पर इटानगर की दावेदारी मजबूत होगी, कहने का मतलब  ये कि अपनी  भागीदारी के साथ, इटानगर एक स्मार्ट सिटी बनने के लिए तेजी से आगे बढ़ सकता है, और स्मार्ट सिटी , यहां के नागरिकों के जीवन में सुधार ला सकता है, तो आइए स्मार्ट सिटी में शामिल करने की दिशा में हम अपना काम ईमानदारी से जारी रखें ।

अपनी टिप्पणियां दें

कुल टिप्पणियां - 0

Leave a Reply