You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

नए भारत का आज बनेगा कल शिक्षा-करियर की छोड़ें चिंता, करें कुछ ऐसा…

27 Apr 2018

इस बात में कोई दोहराए नहीं है कि मध्यप्रदेश प्रतिभाओं का धनी राज्य है। इस राज्य से कई महान् हस्तियों के नाम जुड़े हुये हैं। बॉलीवुड कलाकार से लेकर सिंगर, मशहूर लेखक से लेकर क्रिकेटर तक, सभी इसी राज्य से वास्ता रखते हैं। सपने सभी देखते हैं लेकिन सपनों को सच कर दिखाने का जज्बा कुछ लोगों में ही होता है, इसी बात को सच कर दिखाने के लिये आज की युवा पीढ़ी शिक्षा और करियर को लेकर बेहद सीरियस है।

कहते हैं न तब तक मेहनत करते रहना चाहिए जब तक कि मेहनत का फल आपको मिल ना जाए। आज के समय में पढ़ाई और करियर की चिता करना जायज है, किन्तु इसकी वजह से आज की युवा पीढ़ी का मानसिक तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। यही वजह है कि शायद कुछ लोग तय नहीं कर पाते कि उन्हें अपने करियर को किस दिशा में ले जाना है, वे अपनी राह से भटक जाते हैं और दिशाहीन होकर गलत कदम उठा लेते हैं।

खासकर बारहवीं कक्षा में पहुंचने के साथ ही युवा पीढ़ी पढ़ाई और करियर को लेकर चिंतित हो जाती हैं, तो कोई अच्छा कॉलेज और नौकरी की चाह रखता है, चूंकि ऐसा सोचना भी गलत नहीं होगा। आखिरकार समय बदल चुका है, कॉम्पीटिशन अपनी चरम सीमा को पार कर चुका हैं। पहले मैं, पहले मैं की होड़ लगी हुई है, भला ऐसे में युवाओं का मानसिक तनाव क्यों नहीं बढ़ेगा।

मध्यप्रदेश सरकार ने ऐसे युवाओं को पढ़ाई में मदद देने के लिये मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना की शुरुआत की

ऐसे में प्रतिभावान युवाओं को उनकी मंजिल दिखाने की जरूरत है। जिसकी वजह से वे अपने आपको मानसिक तनाव से दूर रखे सकें और अपने सपने को साकार कर सकें। मध्यप्रदेश शासन द्वारा विद्यार्थियों के लिये एक तोहफा मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना

जो युवा अपने जीवन में कुछ अलग करने की चाह रखते हैं उनके लिए राज्य में कई तरह के प्लेटफॉर्म उपलब्ध हैं, कुछ इंस्टीट्यूट द्वारा शॉर्टटम कोर्सेस भी कराये जा रहे हैं, जो उन प्रतिभावान युवाओं के लिए एक नई दिशा तय करता है। यदि युवा पढ़ाई के बाद अपना स्टार्ट अप शुरू करना चाहते हैं तो मध्यप्रदेश सरकार युवाओं के साथ खड़ी है और उनके व्यापार को खड़ा करने में हर संभव प्रयास करेगी।

इसके साथ ही भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा इन्क्यूबेशन सेंटर (B-Nest) की स्थापना की जा रही है, जो युवाओं में उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने में आवश्यक भूमिका निभाएगा। इन्क्यूबेशन सेंटर में को-वर्किंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी, जहां सभी तरह का तकनीकी, क़ानूनी, मार्केटिंग और आवश्यक वित्तीय सहयोग भी प्रदान किया जायेगा; जो की स्टार्टअप की शुरुआत के लिए आवश्यक है।

स्वरोज़गार और उद्यमी योजना युवाओं की ताकत बन रही मध्यप्रदेश सरकार500 से ज़्यादा स्टार्ट अप की शुरुआत

इस लेख के माध्यम से युवा पीढ़ी को जागरूक करना है कि राज्य में शासन द्वारा युवाओं की पढ़ाई और करियर को लेकर सर्वसुविधाएं उपलब्ध कराई जा रहीं हैं। जिसके पश्चात् अब युवाओं को पढ़ाई औऱ करियर को लेकर मानसिक तनाव और भाग-दौड़ से गुजरने की जरूरत नहीं है।

Total Comments - 0

Leave a Reply