You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

मानसिक तनाव से बचने के लिये छात्र परामर्श हेल्पलाइन का फायदा उठायें

19 Mar 2019

परीक्षा के दौरान अभिभावक और शिक्षक भी उतने ही चिंतित और उत्सुक नज़र आते हैं जितने कि छात्र। उनकी चिंता का भी एक ही मुद्दा है कि मेरा बच्चा अच्छे अंकों से उत्तीर्ण हो और यदि बच्चा अच्छे अंकों से उत्तीर्ण हो जाता है तो इसका मतलब है कि माता-पिता और शिक्षक ने अपनी-अपनी ज़िम्मेदारियाँ भलिभॉंति निभाई हैं। इसमें अभिभावकों और शिक्षकों की बहुत बड़ी भूमिका है। बच्चे अक्सर अपने माता-पिता एवं शिक्षकों की उम्मीदों पर खरा उतरना चाहते हैं लेकिन शिक्षकों और अभिभावकों को ये ध्यान में रखना चाहिए कि उनकी उम्मीदों की वजह से बच्चे के दिमाग पर अनावश्यक दबाव न पड़े और ऐसे में उनका मानसिक तनाव न बढ़ जाए। परीक्षा के दौरान कुछ चीजों का विशेष रूप से ध्यान रखना बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है ताकि छात्रों को परीक्षा की तैयारी करने में सहायता मिल सके।

मानसिक तनाव बीमारी का कारण बन सकता है

परीक्षा के पूर्व एवं परीक्षा के समय छात्रों और उनके अभिभावकों का मानसिक तनाव बढ़ने लगता है और यही स्थिति अक्सर परीक्षा परिणामों के पूर्व एवं परीक्षा परिणामों के पश्चात् करियर को लेकर रहती है। परीक्षा चाहे किसी भी तरह की हो छात्र और अभिभावक हमेशा परीक्षा की तैयारी, रैंक और अंकों को लेकर तनावग्रस्त रहते हैं। अत्यधिक तनाव लेने से छात्रों को विभिन्न प्रकार की मानसिक बीमारी जैसे – नींद की समस्या, थकान, घबराहट, माइग्रेन और अन्य बीमारियाँ घेर लेती हैं जो परीक्षा देने के समय अत्यधिक कठिनाईयां पैदा करती हैं।

मानसिक तनाव से बचने के लिये छात्र परामर्श हेल्पलाइन का फायदा उठायें

परीक्षा और करियर की चिंता से होने वाले इसी तरह के मानसिक तनाव से निपटने के लिये माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्यप्रदेश द्वारा एक छात्र परामर्श हेल्पलाइन की शुरुआत की गई। जिसमें हाईस्कूल एवं हायर सेकण्डरी परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले छात्रों और उनके अभिभावकों का मानसिक तनाव दूर करने के लिये परामर्शदाताओं के द्वारा परामर्श दिया जा रहा है। छात्रों को होने वाली अकादमिक समस्याओं का निवारण भी इस पैनल के मार्गदर्शन से किया जा रहा है।

1. छात्र और उनके अभिभावक माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्यप्रदेश, भोपाल के विज्ञान केन्द्र स्थित हेल्पलाइन कक्ष से भी परामर्श प्राप्त कर रहे हैं।

2. इस हेल्पलाइन सेवा का लाभ छात्रों को प्रात: 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक एक टोल-फ्री नंबर 18002330175 और लैंडलाइन नंबर 0755-2570248 / 2570258 के माध्यम से दिया जा रहा है जिसका का संचालन 4-4 घंटे की तीन पारियों में किया जा रहा है।

3. प्रत्येक पारी में 6 काउंसलर्स द्वारा काउंसलिंग दी जा रही है। वर्ष 2018 में कुल 100611 छात्रों को हेल्पलाइन सेवा के माध्यम से काउंसलिंग प्रदान की गई है।

4. इस हेल्पलाइन की मदद से छात्रों को विभिन्न योजनाओं से संबंधित जानकारी, परीक्षा दिशा-निर्देश, तनाव-मुक्त परीक्षा पर सुझाव, बेहतर परिणाम पर सुझाव, करियर काउंसलिंग, स्वस्थ अध्ययन की आदतें और परीक्षा के दौरान एकाग्रता लाने समेत कई अन्य बिंदुओं से अवगत कराया जा रहा है।

MPMyGov आप सभी को परामर्श हेल्पलाइन से अवगत कराने में अहम भूमिका अदा करता है, और इसी संदर्भ में MPMyGov पोर्टल पर एक जागरूकता कैंपेन भी चलाया जा रहा है जिसकी अधिक जानकारी MPMyGov पोर्टल पर लॉग इन करके प्राप्त की जा सकती है। छात्रों की मानसिक शक्ति को बढ़ावा मिले और परीक्षा की तैयारी के दौरान मध्य प्रदेश में प्रत्येक छात्र के पास एक स्वस्थ और खुशमिजाज दिमाग हो इसी उद्देश्य के साथ MPMyGov सभी छात्रों को परीक्षाओं में अच्छे प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं प्रेषित करता है।

Total Comments - 0

Leave a Reply