You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

10वीं व 12वीं के विद्यार्थियों के लिए ‘‘हिमाचल दूरदर्शन ज्ञानशाला कार्यक्रम’’ शुरू

18 Apr 2020

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने  प्रदेश के विद्यार्थियों के लिए दूरदर्शन के माध्यम से 10वीं और 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए ई-लर्निंग और टीचिंग आरंभ करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि यह सुविधा विद्यार्थियों को 17 अप्रैल, 2020 से ‘‘हिमाचल दूरदर्शन ज्ञानशाला कार्यक्रम’’ के माध्यम से घर से ऑनलाइन उपलब्ध करवाई जाएगी। शिक्षा विभाग ने 10वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के पाठ्यक्रम के अनुसार कार्यक्रम तैयार किया है, जो 17 अप्रैल से प्रतिदिन प्रातः 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक विभिन्न विषयों पर निरंतर तीन घंटे समयसारिणी के अनुसार चलाया जाएगा। उन्होंने अध्यापकों, विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों को केंद्र एवं प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप उचित सामाजिक दूरी का पालन करते हुए इस सुविधा का लाभ उठाने का आग्रह किया है।

विद्यार्थी ऑनलाइन देख सकेंगे वीडियो और वर्कशीट

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कोविड-19 के मद्देनजर लॉकडाउन अवधि में 9वीं से 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए घर से अध्ययन पर आधारित कार्यक्रम ‘‘लर्निंग फ्रॉम होम-हर घर पाठशाला’’ की भी समीक्षा की। इस कार्यक्रम के शुभारंभ की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम का शुभारंभ कोरोना महामारी के मद्देनजर प्रदेश में लगे कर्फ्यू के कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई में रूकावट पैदा न हो, के उद्देश्य से किया है। इस कार्यक्रम से विद्यार्थी   www.education.hp.gov.in  और https://cutt.ly/hargharpathshala  के माध्यम से घर पर ही ऑनलाइन वीडियो और वर्कशीट देख सकेंगे। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम 16 अप्रैल, 2020 से जब तक सामान्य रूप से स्कूल नहीं खुलते, तब तक प्रतिदिन प्रातः 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक जारी रहेगा।

शिक्षक रोजाना चैक करेंगे होमवर्क

कार्यक्रम के माध्यम से अध्यापकों द्वारा महत्वपूर्ण विषयों पर व्हट्सऐप ग्रुप द्वारा सभी विद्यार्थियों को प्रतिदिन वीडियो और होमवर्क उपलब्ध हो सकेगा। अध्यापकों द्वारा प्रतिदिन होमवर्क चैक किया जाएगा और फीडबैक दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री श्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा टीवी/रेडियो/एफएम के माध्यम से भी राज्य के सभी विद्यार्थियों को पढ़ाई सामग्री उपलब्ध करवाने की योजना बनाई जा रही है।

Total Comments - 0

Leave a Reply